दाती महाराज की मुश्किलें बढ़ीं, CBI ने दुष्कर्म मामले में केस दर्ज कर शुरू की जांच

  
नई दिल्ली, / दुष्कर्म मामले में फंसे स्वयंभू महाराज और शनिधाम के संस्थापक दाती मदन के खिलाफ सीबीआइ ने शुक्रवार को रिपोर्ट दर्ज कर ली है। सीबीआइ ने केस में दाती महाराज और उसके तीन सौतेले भाईयों को आरोपी बनाया है। सीबीआइ ने पीड़िता के आरोपों के आधार पर चारों के खिलाफ दुष्कर्म और अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने की रिपोर्ट दर्ज की है
मालूम हो कि दुष्कर्म मामले में फंसा दाती मदन उर्फ दाती महाराज इस केस में सीबीआइ जांच नहीं चाहता था। इसके लिए उसने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। सुप्रीम कोर्ट ने चार दिन पहले (22 अक्टूबर को) ही सीबीआइ जांच पर रोक लगाने संबंधी दाती महाराज की याचिका खारिज कर दी थी। इसके बाद सीबीआइ ने शुक्रवार को मामले में रिपोर्ट दर्ज कर दाती महाराज के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। माना जा रहा है कि सीबीआइ जांच से दाती महाराज की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।
कुछ दिनों पहले ही राजस्थान की 21 वर्षीय युवती से दुष्कर्म के आरोप में घिरे दाती महाराज के खिलाफ दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने साकेत कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है। क्राइम ब्रांच की इस चार्जशीट में दाती महाराज समेत उसके तीन सौतेले भाईयों का भी नाम शामिल है। अब सीबीआइ द्वारा रिपोर्ट दर्ज करने के बाद दाती महाराज पर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है।



महाराज के खिलाफ बीती सात जून को राजस्थान की रहने वाली 21 वर्षीय युवती ने शिकायत दी थी। युवती की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने 11 जून को एफआइआर दर्ज की थी। दिल्ली पुलिस ने मामले में 22 जून को आरोपी दाती महाराज से पूछताछ भी की थी। दाती महाराज और उसके तीनों सौतेले भाईयों पर आरोप है कि उन्होंने दिल्ली और राजस्थान के आश्रम में राजस्थान की युवती से दुष्कर्म किया था।
मामले में आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर युवती ने हाई कोर्ट में सीबीआइ जांच की अपील की थी। युवती की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने सीबीआइ जांच का आदेश दे दिया था। इसके बाद दाती महाराज ने हाई कोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दाती महाराज ने सीबीआइ जांच के आदेश को खारिज करने की गुहार लगाई थी। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका पर सुनवाई करने से इंकार कर दिया है। युवती ने दिल्ली पुलिस पर दाती महाराज को बचाने और केस में लापरवाही बरतने का भी आरोप लगाया था। अगर युवती के आरोप सही हैं तो मामला सीबीआइ को सौंपे जाने से दाती महाराज पर शिकंजा कसेगा।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.