गोण्डा-मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तर प्रदेश की अध्यक्षता में आयोजित हुई एक दिवसीय कार्यशाला

पाठ्यक्रम में शामिल होगीं निर्वाचन सम्बन्धी जानकारियां, मतदाताओं को मोबाइल पर मैसेज से मिलेगी जानकारी

 
गोंडा ब्यूरो
गोंडा लोकतंत्र में हर एक मतदाता और हर एक मत महत्वपूर्ण है। स्थानीय निकायों के चुनावों के सापेक्ष विधानसभा व लोकसभा के चुनावों में मतदाताओं की कम रूचि मजबूत लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। आने वाले दिनों के हर एक मतदाता तक पहुंचने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए सभी जिम्मेदार अधिकारी अभी से कार्य करना शुरू कर दें तथा इसमें स्कूलों, कालेजों व गैर सरकारी संगठनों का भी सहयोग लिया जाय। ग्रामीण स्तर तक स्वीप एक्टिविटी संचालित की जायं। जागरूकता अभियान से बच्चों को जोड़ा जाय। यह बातें आयुक्त सभागार में आयोजित निर्वाचन सम्बन्धी एक दिवसीय कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल0 बेंकटेश्वर लू ने  कही।
       



           कार्यशाला में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जिन मूल्यों के आधार पर भारत के संविधान द्वारा जनता को मताधिकार की पावर दी गई थी क्या वास्तव में जनता को उसका लाभ मिल पा रहा है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सबसे पहले मण्डल के सभी जिलाधिकारियों, एडीएम और अन्य क्षेत्रों से जुड़े हुए लोगों से मत प्रतिशत केसे बढ़ाया जाय, के बारे में सुधार हेतु सुझाव मांगे। कार्यशाला में यह बात खुलकर सामने आई कि यदि मत प्रतिशत बढ़ाना है तो असे पहले मतदाता सूची को स्वच्छ और शुद्व बनाना होगा। नकली मतदाताओं, मृत वोटर्स को सूची से हटाना होगा। इसके अलावा हर मतदाता को उसके एक एक वोट की अहमियत बतानी होगी तथा उन्हें मतदान के लिए पे्ररित करना होगा तभी सच्चे लोकतंत्र की स्थापना होगी।  उन्होने कहा कि मतदान एक ओर जहां अधिकार है, वहीं दूसरी ओर मतदान करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी भी है। उन्होने बेबाकी से अपनी बात रखते हुए कहा कि राजनीति में जो भी बुराइयां आ गई हैं उन्हें  सिर्फ और सिर्फ निष्पक्ष निर्वाचन और अच्छे मतप्रतिशत से ही दूर किया जा सकता है।
           
                                  उन्होने बताया कि नई पीढ़ी को निर्वाचन कार्य के जोड़ने के लिए जल्द ही निर्वाचन सम्बन्धी विस्तृत जानकारियों को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा। इसके अलावा हर मतदाता को मोबाइल पर एसएमएस के द्वारा उनके मतदान केन्द्र व बूथ नम्बर, मतदाता सीरियल नम्बर सहित समस्त जानकारियां दी जाएगी। उन्होने जागरूकता के लिए चलाए जा रहे स्वीप कार्यक्रमों के सही क्रियान्वयन न किए जाने पर कहा कि निर्वाच्न आयोग द्वारा 100 से ज्यादा स्वीप कार्यक्रम निर्धारित किए गए हैं जबकि लगभग सभी जगहों पर सिर्फ आसान और कुछ ही कार्यक्रम चलाकर इतिश्री कर ली जाती है। उन्होने स्कूल एवं कालेज प्रबन्धकों से अपील किया कि वे सब अपने बच्चों को इस अभियान से जोड़ें। उन्होने कहा कि मतदाताओं को जागरूक करने में बच्चे सबसे अच्छा रोल प्ले कर सकते हैं। इसलिए स्कूल, कालेज, अस्पताल तािा संस्थाएं चलाने वाले लोगों को इसमं बढ चढकर हिस्सा लेना चाहिए। आयुक्त देवीपाटन मण्डल ने कहा कि यदि बीएलओ सही से काम करंे और अधिकारी मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रमों की गहन मानीटरिंग करें तो निश्चित ही मत प्रतिशत बढ़ेगा। कार्यशाला में सभी जिलो के डीएम व अन्य अधिकारियों ने अपने-अपने सुझाव रखे जिस पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कार्यवाही का आश्वासन दिया। उन्होने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि वे सब बड़े स्तर पर मतदाता जागरूकता कार्यक्रम चलाएं तथा मतदाता सूची को पूरी तरह से शुद्ध बनाने के लिए ग्राम स्तर तक कार्य करें। उन्होने कहा कि इस कार्य में जनप्रतिनिधियों की भी सहभागिता ली जाय।



    कार्यशाला के दौरान उपमुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तरप्रदेश रत्नेश सिंह,  आयुक्त देवीपाटन मण्डल सुधेश कुमार ओझा, डीएम गोण्डा कैप्टेन प्रभानु श्रीवास्तव, डीएम श्रीवास्ती दीपक मीणा, डीएम बहराइच माला श्रीवास्तव, डीएम बलरामपुर कृष्णा करूणेश, एसपी गोण्डा लल्लन सिंह, अपर आयुक्त प्रशासन आर0एन0 वाजपेयी, एडीएम गोण्डा रत्नाकर मिश्र, बलरामपुर अरूण कुमार शुक्ला, नगर मजिस्ट्रेट सुभाष चन्द्र प्रजापति, मण्डल के सभी एसडीएम व तहसीलदार, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी गोण्डा गिरीश कुमार, स्वीप प्रभारी प्रदीप मिश्र, जिला विद्यालय निरीक्षण गोण्डा, सहायक निर्वाचन अधिकारी गोण्डा, आर0बी0 सिंह बघेल, अजिताभ दूबे, सहित अन्य विद्यालयों के प्रबन्धक व प्रधानाचार्य व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *