गोंडा विकास कार्यक्रमों की समीक्षा में प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों के कसे पेंच

 

तीन वर्षों से जमे सफाईकर्मी हटेंगे, अन्यत्र ब्लाक में होगा स्थानान्तरण

         
गोंडा ब्यूरो
             एक ही ब्लाक में तीन वर्षों या उससे अधिक समय से जमे हुए सभी सफाईकर्मियों का स्थानान्तरण ब्लाक के बाहर निष्पक्ष ढंग से बिना किसी दबाव के कर दिया जाय। सभी अधिकारी अपने अपने निरीक्षणों की फोटो उनके व्हाट्सएप नमबर पर सेंड करें तथा मीटिंग में पूरी तैयारी से आएं वरना अन्तिम अब कार्यवाही के लिए तैयार हो जाएं। यह चेतावनी जिले के प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने जिला पंचायत सभागार में विभिन्न विभागों की प्रगति समीक्षा के दोरान अधिकारियों को दिए हैं।



प्रभारी मंत्री ने सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा की। मुख्य चिकित्साधिकारी को स्पष्ट निर्देश दिए कि स्वास्थ्य सेवाओं को दुरूस्त करा लें। तमाम शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। उनको दूर करा लें तथा सरकार की मंशानुसार जन जन को स्वास्थ्य सेवाओं में कठिनाई न होने दें। दूसरे नम्बर पर पंचायतीराज विभाग की समीक्षा रही। प्रभारी मंत्री ने गांवों में साफ-सफाई न होने तथा लक्ष्य के सापेक्ष शौचालयों का निर्माण कार्य पूरा न होने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होने कहा कि गांवों में सफाईकर्मी  जाते ही नहीं हैं तथा एक ही ब्लाक या गांव में कई वर्षों से जमे हुए हैं। ऐसे सभी सफाईकर्मियों का तबादला बिना किसी दबाव के दूसरे ब्लाक में कर दें। ज्ञात हुआ कि अब तक 136263 शौचालयों की फोटो बवेसाइट पर अपलोड कराई गई है जबकि अभी कम से कम डेढ़ लाख से अधिक शौचालयों का निर्माण व फोटो अपलोडेशन बाकी हैं। इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकारी की महत्वाकांक्षी ऋणमोचन योजना की समीक्षा हुई जिसमें ज्ञात हुआ कि जिले में अब तक 97472 किसानों को 606 करोड़ 98 लाख का ऋण माफ किया जा चुका है और अभी 18229 किसानों के आवेदन ऋण माफी के लिए लम्बित है। समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा में ज्ञात हुआ कि विभिन्न पेंशनों के आवेदन बीडीओ स्तर पर लम्बित हैं। प्रभारी मंत्री ने मीटिंग में ही खड़े करके एक एक बीडीओ से सीधे जवाब तलब किया। जिले में कुल 6500 आवेदन पेंशन योजनाओं के लम्बित है जिनमें सबसे ज्यादा आवेदन परसपुर ब्लाक पर 1052, बेलसर में 810 तथा छपिया में 704 आवेदन सत्यापन के लिए लम्बित हैं। समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए कि जनप्रतिनिधियों के संज्ञान में लाते हुए ब्लाकों पर कैम्प लगवाएं तथा ज्यादा से ज्यादा पात्रों को लाभ दें। विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री ने फोन न उठाने पर नाराजगी जाहिर की और निर्देश दिया कि निर्धारित पैरामीटर के अनुसार गांवों तथा शहरों को विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराएं। इसक बाद आवसी योजना की समीक्षा हुई। जनप्रतिनिधियों ने पात्रों के छुटने की बात कही जिस पर प्रभारी मंत्री ने सीडीओ को निर्देश दिया कि वे पात्रों को हर हाल में सूची में शामिल कराएं। बेसिक शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान पंजीयन के सापेक्ष बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने तथा फर्जी नामांकन दिखाकर एमडीएम व अन्य तरह की गड़बड़िया रोकने के निर्देश दिए।



बैठक में विधायक कटरा बावन सिंह, विधायक गौरा प्रभात वर्मा, डीएम गोण्डा कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक लल्लन सिंह, सीडीओ अशोक कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष पीयूष मिश्र,सांसद प्रतिनिधि संजीव सिंह, समाज कल्याणमंत्री के प्रतिनिधि वेद प्रकाश दूबे, पीडी, सीएमओ, बीएसए, जिला समाज कल्याण अधिकारी, डीपीआरओ सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.