हारीपुर के हेल्थ हॉस्टल मे गर्ल्स प्रशिक्षुओं की सुरक्षा भगवान भरोसे !

सेक्युरिटी न होने के कारण यहाँ कभी भी हो सकती है अप्रिय वारदा

 
अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- +91 8076748909

नवल किशोर पाण्डेय गोण्डा(IA2Z) – राजधानी को जाने वाली शहर के बाहर वीरानगी के साये मे कैद ईचौपाल व हारीपुर के मध्य हाईवे मार्ग पर संचालित एक बड़े (हास्पिटल) ट्रेनिंग सेंटर मे अध्यन रत गर्ल्स हॉस्टल के छात्राओं की सुरक्षा अब भगवान भरोसे ही है, सेक्युरिटी न होने के कारण यहाँ कभी भी अनहोनी वारदात हो सकती है, जिले के बड़े हाकिम, हुक्मरानों को शायद अपराधिक घटनाओं का इन्तजार है ?

एक तरफ देश के पीएम नरेन्द्र मोदी एवं सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ महिलाओं के शिक्षा और सुरक्षा को लेकर काफी गंभीर हैं। पूरे देश में सरकार की तरफ से सरकारी संस्थानों- अस्पताल, थाना, ब्लाक व शैक्षिक  विद्यालयों में महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम आयोजित कर सुरक्षा के टिप्स बताए जाते हैं। वहीं चिराग तले अंधेरा की कहावत के तर्ज पर देवीपाटन मंडल का मुख्यालय जिला गोण्डा में कामिश्नर, डीआईजी, एसपी व डीएम होते हुए भी इस इस गर्ल्स हास्पिटल कालेज के प्रबंधतंत्र को हास्टल में रह रही प्रशिक्षु लड़कियों का जरा भी फिकर नही है।

       इसे व्यवस्थापक की दबंगई कहें या पढ़ाई कर रहीं गर्ल्सों की जिंदगी से खिलवाड़ करने की हिमाकत कहा जाए, हास्पिटल के इस  बेखौफ डायरेक्टर को लड़कियों की सुरक्षा को लेकर जरा सा भी खौफ नही है,

 बताते चलें कि बात महिलाओं से जुड़ा है। इसे सार्वजनिक करना भी मुनासिब नही, अवगत हो कि तकरीबन एक दर्जन लडकियों नें सरकार को अनाम गोपनीय पत्र भेजकर सुरक्षा की गोहार लगाई है। बताते हैं कि यहां पूर्व में कार्यरत एक सिक्योरिटी गार्ड को कुछ लफंगों ने धुनाई कर दी जिससे अब यहां कोई भी ड्यूटी करने के लिए राजी नही होता, वावजूद इसके यहाँ के व्यवस्थापक के कानो तक जूँ नहीं रेंगती, अगर यहाँ का व्यवस्था यूँ ही रहा तो यहाँ कभी भी कुछ भी हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat