दलालों के चुंगल में फंसा मनकापुर इलाहाबाद बैंक, मैनेजर पर भारी कमीशनखोरी का आरोप

 हियुवा उपभोक्ता ने सीएम,डीएम व एसडीएम से की जांच की फरियाद


अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- 6262-05-6262

एन.के मौर्य-Ia2z ब्यूरो देवीपाटन मंडल

गोण्डा- गरीब लाचार उपभोक्ताओं के लिए जहाँ सरकार द्वारा बैंकों मे संचालित प्रधान मंत्री स्वर्णिम योजना का मुद्रा लोन पास करके उपभोक्ताओं की आर्थिक मदद की जा रही है,वहीँ शाखा इलाहबाद बैंक मनकापुर मे ये योजना भारी कमीशन खोरी के तहत रुपये डकारने का मोहरा बना हुआ है, जहाँ दलालों द्वारा बैंक मैनेजर भारी कमीशन खोरी करके सरकारी खजाने पर डाका डाल रहा है, जिसकी शिकायत उपभोक्ता ने सीएम, डीएम व एसडीएम से की है।

बताते चलें कि हियुवा भारत के जिला उपाध्यक्ष बैंक उपभोक्ता आदित्य सिंह का आरोप है कि मनकापुर इलाहाबाद बैंक काफी दिनों से दलालों का अड्डा बना हुआ है, यहाँ जो भी काम होते हैं वो बैंक मैनेजर छाया कान्त मांझी के दलालों के माध्यम से ही होते हैं, इतना ही नहीं प्रधान मंत्री स्वर्णिम योजना के मुद्रा लोन पर भी बैंक मैनेजर फर्जी कागजात के जरिये 15 से 20 प्रतिशत कमीशन लेता है, और तो और बाहरी दलालों के साथ साथ यहाँ एक प्राइवेट बैंक कर्मी मैनेजर का ख़ास दलाल है जिससे मिलकर कमीशन डील होते हैं, उपभोक्ता का कहना है कि मैनेजर हमेशा दलालों से घिरे रहते हैं, उसने बताया कि कमीशन न देने के चलते उसका मुद्रा लोन नहीं पास किया जा रहा है, जबकि भारी कमीशन देने वालों का यहाँ खूब स्वागत होता है,

 जांच मे खुल सकता है करोड़ो रुपये डकारने का राज

 उक्त प्रकरण को लेकर उपभोक्ता के साथ साथ हियुवा भारत के पदाधिकारियों आकाश, दिनेश कुमार,घनश्याम सिंह, विजय गुप्ता, विनीत तिवारी व राहुल सिंह आदि ने एसडीएम को प्रार्थना पत्र देकर उसमे यह दर्शाते हुए जांच की मांग की है कि अगर सही तथ्यों को खंगाला गया तो करोड़ों रुपये डकारने का राज खुल सकता है, साथ ही यहाँ के कृत्यों की जांच के लिए पत्र भेजकर सीएम व डीएम से भी हुंकार भरी है।

क्या कहते हैं बैंक मैनेजर

प्रकरण के सन्दर्भ में जब बैंक मैनेजर छायाकांत मांझी से उन पर लगे आरोपों के विषय मे बात की गयी तो उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा उपभोक्ता को 50 हजार का लोन पहले भी दिया जा चुका है, जिसमे कोई कमीशन नही लिया गया, जब वो फाइनल जमा होगा, तभी दूसरा लोन पास हो पायेगा, मुझ पर लगे सारे आरोप निराधार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat