गोण्डा: एसपी साहब ! कटरा थाना क्षेत्र मे आखिर कब तक चलता रहेगा दबंगो का सिक्का

आगजनी का मुकदमा दर्ज होने के बावजूद, आजाद परिंदे की तरह घूम रहे अपराधी


अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- 6262-05-6262

नवल किशोर पाण्डेय / एन.के मौर्य

IA2Z गोण्डा- जिले के कटरा बाजार थाना क्षेत्र स्थित सांवक पुरवा मे दबंगो ने कुछ दिनो पहले गरीब के आशियाना को जलाया, जिसमे काफी प्रयासों के बाद सीओ के निर्देश पर आगजनी का मुकदमा तो दर्ज हुआ, मगर गिरफ्तारी के नाम पर खाकी हाथ मलती रही, परिणामस्वरूप आरोपी युवकों ने मामले में सुलह न लगाने वाले पीड़ित को लात घूसों से पीटकर जान से मारने की धमकी दी, पीड़ित ने एसपी के चौखट पर न्याय का दामन फैलाया है।

प्रकरण कटरा बाजार थाने के ग्राम सरवांग का है जहाँ का गरीब लाचार निवासी जीवन लाल शुक्ला एक कमरे के साथ साथ छप्पर मे रहकर अपना गुजारा करता था, उक्त छप्पर मे बच्चों की किताबें, कपड़ा, गेंहू, रखने के साथ साथ वहां अपनी गाय को बांधता था, पीड़ित जीवन लाल के भाई ज्ञान प्रकाश शुक्ला ने बताया था कि बीती रात्रि 11. 30 बजे के करीब गाँव के ही पिंटू व शेष राज पुत्रगण बजरंग बिहारी वहां रिहायसी छप्पर के पास पहुंचे, इससे पहले हम कुछ समझ पाते कि पिंटू ने छप्पर मे माचिस से आग लगा दी, संयोगवश लाइट जलने की वजह से व पहचान में आ गए,बताते चलें कि आग की लपटों मे गेंहू के साथ साथ बच्चों की किताबें व कपड़ों के साथ जहाँ गृहस्थी का सामान जलकर राख हो गया था, वहीँ छप्पर के नीचे बंधी गाय भी बुरी तरह से झुलस गयी थी,

    पीड़ित जीवन लाल का कहना था कि सुबह जब उसने दोनों आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर दी,तो मौके पर पहुंचे हल्का दरोगा द्वारा दोनों को थाने लाया गया, मगर प्रभावी कार्यवाही करने की बजाय हल्का दरोगा आरोपियों पर मेहरबान नजर आयी, पीड़ित का कहना है कि दरोगा ने उसे कहा कि इसमें कुछ नहीं होगा, अगर सुलह लगा लो तो तुम्हारा जो भी नुक्सान हुआ है वो हम दिलवा देंदे, जब पीड़ित ने कहा कि क्या मेरी गाय को पहले जैसा कर सकते हैं तो दरोगा ने उसकी दुश्वारियां बढ़ाते हुए कहा कि जाओ बड़े दरोगा के पास उनसे अपनी बात रखो, तत्पश्चात जब पीड़ित वहां पहुंचा तो उससे यह कहा गया कि अभी इंस्पेक्टर साहब नही है जब वो आयेंगे तब कुछ होगा,

    अवगत हो कि खाकी के हाथों फ़ुटबाल बना पीड़ित दोपहर 1 बजे से शाम लगभग 6 बजे तक कांपते हुए थाने में बैठा रहा, आखिरकार जब इंस्पेक्टर नही मिले तो वह थक हार कर घर वापस आ गया था, बताते चलें कि करैलगंज सर्कल मे अपराधी बेलगाम होते जा रहे हैं, साथ ही पीड़ितों की दुश्वारियां भी बढ़ती जा रही है, यही वजह है कि पिछले दिनो रेप के हत्यारों को सजा न मिलने के कारण महिला ने आत्महत्या कर लिया था, बावजूद इसके यहाँ की कानून व्यवस्था पटरी पर नही आ रही है, और क्राइम बढ़ता ही जा रहा है।

 

 सीओ की भृकुटि तनने से हुआ था मुकदमा दर्ज

मंजिले और भी हैं, यह सोंच पीड़ित ने सीओ जटाशंकर राव के चौखट पर माथा टेका था, जहाँ पीड़ित का दर्द देख सीओ हरकत में आ गए, और उन्होंने शीघ्र ही थानेदार का पेंच कसते हुए प्रकरण के सन्दर्भ मे घर जलाने के आरोपी पर मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया था तत्पश्चात पुलिस ने आरोपी पर धारा 435 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज तो किया मगर अंजाम ये रहा कि अपराधी आज भी ऊँचे रसूक के हनक पर आजाद परिंदों की तरह बेखौफ घूम रहे हैं, जबकि मित्र खाकी को न तो कानून के हिमायतों का डर है और न ही प्रशासन का खौफ है।

 दबंगो से पिटे पीड़ित ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार

 बताते चलें कि हाल फिल्हाल मे हौंसले बुलंद अपराधी दिनांक 20 फरवरी 2019 को पीड़ित से उस वक़्त उलझ गए जब वह ग्राम प्रधान के घर किसी कार्यवश गया था, पीड़ित का कहना है कि उस वक़्त तो ग्राम प्रधान ने उन्हें डांटकर भगा दिया मगर जब वह घर जाने लगा तो रास्ते में पुलिया के पास छिपकर बैठे उपरोक्त लोगों ने उसे घेर कर लात घूसों से मारा पीटा ही नही बल्कि यह कहा कि अगर मुक़दमे में सुलह नहीं लगाओगे तो तुम्हें जान से मार देंगे, अवगत हो कि उक्त प्रकरण को पीड़ित ने एसपी को लिखित रूप से अवगत कराकर न्याय की झोली फैलाया है।  

 पीड़ित का कुछ यूँ छलका दर्द

इस सन्दर्भ मे पीड़ित का कहना है कि उसे विपक्षियों द्वारा आये दिन भद्दी भद्दी गालियां मिल रही हैं और मुकदमा वापस लेकर सुलह लगाने के लिए मजबूर किया जा रहा है, जिसे न मानने पर   विपक्षीगणों ने फिर उसे लात घूसों से पीटकर जान से मार डालने की धमकी दी है, जिसकी शिकायत एसपी से करके न्याय का दामन फैलाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat