शुक्रवार को भारतीय पायलट अभिनंदन को रिहा करेगा पाक संसद में इमरान खान ने कहा

अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- 6262-05-6262

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तानी संसद में कहा कि भारत के लापता पायलट अभिनंदन को कल रिहा कर दिया जाएगा। इसके अलावा इमरान ने कहा कि हमें भारत द्वारा डोजियर सौंपा गया है और हम उस पर कार्यवाई करेंगे। हालांकि इमरान ने कहा कि पाकिस्तान यह सब शांति के लिए कर रहा है क्योकिं हम मानते है कि जंग कोई हल नहीं है। पायलट अभिनंदन को बुधवार को उस समय कथित रूप से पकड़ लिया गया था जब वह अपने मिग 21 बाइसन विमान से सुरक्षित बाहर निकल गए थे। हालांकि वह नियंत्रण रेखा पार करके पाकिस्तान की ओर गिरे। प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद में दो बार कहा कि शांति संदेश के रूप में हम भारतीय पायलट को कल रिहा करेंगे।पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने बृहस्पतिवार को घोषणा की कि भारतीय वायुसेना के पकड़े गए पायलट अभिनंदन को शांति पहल और भारत के साथ बातचीत शुरू करने के लिए ‘‘पहले कदम’’ के तौर पर शुक्रवार को रिहा किया जाएगा।



इमरान ने संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए यह अप्रत्याशित घोषणा की। उनकी इस घोषणा से कुछ देर पहले ही विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि दोनों देशों के बीच तनाव में कमी के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान अपने भारतीय समकक्ष के साथ बातचीत करने को तैयार हैं। विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ ने जब संसद में बोलना शुरू किया तो इमरान ने उन्हें रोकने के लिए माफी मांगी और कहा कि वह घोषणा करना चाहते हैं कि बुधवार को पाकिस्तानी वायु सेना द्वारा पकड़े गए भारतीय वायुसेना के पायलटको शांति पहल के तौर पर शुक्रवार को रिहा किया जाएगा।



इमरान खान ने कहा, शांति की हमारी कामना में, मैं घोषणा करता हूं कि कल (शुक्रवार को), और बातचीत शुरू करने के लिए पहले कदम के तौर पर, पाकिस्तान हिरासत में लिए गए भारतीय वायुसेना के अधिकारी को रिहा कर रहा है।’’ पाकिस्तानी सांसदों ने मेजें थपथपा कर उनकी इस घोषणा का स्वागत किया। खान ने संसद में कहा कि हमारी कार्रवाई का एकमात्र मकसद हमारी क्षमता और इच्छा का प्रदर्शन करना था। हम भारत में कोई नुकसान नहीं चाहते थे क्योंकि हम जिम्मेदार तरीके से कार्य करना चाहते हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि भारत की आक्रामकता बनी रहती है तो पाकिस्तान को जवाबी कार्रवाई करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। उन्होंने भारतीय नेतृत्व से आग्रह किया कि वह तनाव बढ़ाने पर जोर नहीं दे क्योंकि युद्ध किसी भी समस्या का समाधान नहीं है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat