शिक्षा के नाम पर शिक्षक कर रहे हैं सरकारी खजाने की सफाई, छात्र बताते हैं ए फॉर फोटो

 

 पटरी उतरती जा रही है रुपईडीहा के विशेश्वरगंज सरौना प्राथमिक विद्यालय की शिक्षा
 
अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- 6262-05-6262

देखें  वीडियो

एन.के मौर्य / राकेश मिश्रा

IA2Z गोण्डा- शिक्षा व्यवस्था को उच्च स्तरीय पहुंचाने के लिए एक तरफ जहाँ योगी सरकार करोड़ों रुपये खर्च कर रही है वहीँ शिक्षा क्षेत्र रुपईडीहा अंतर्गत बहराईच रोड पर स्थित विशेश्वरगंज बाजार के ग्राम सरौना के प्राथमिक विद्यालय मे शिक्षा के नाम पर शिक्षक छात्रों के उज्जवल भविष्य को अन्धकार मे झोंक कर सरकारी खजाने की सफाई कर रहे हैं, जिन्हें न तो विभागीय अधिकारियों का डर है और न ही सरकार के गाज गिरने का डर है।



उच्च स्तरीय शिक्षा प्रदान करने के लिए सरकार जहाँ हर कवायद को पूरी करने में जुटी हुई है, यहाँ तक कि करोड़ों रुपये शिक्षा विभाग पर खर्च कर रही है, बावजूद इसके विभागीय अधिकारी व कर्मचारी कुम्भकर्णी नींद सोये हुए हैं, जिसका जीत जागता प्रमाण तब सामने आया जब दिनांक 27 फरवरी 2019 को रुपईडीहा अंतर्गत बेशेश्वरगंज बाजार स्थित ग्राम सरौना के  प्राथमिक विद्यालय के छात्रों से यह पूछा गया कि ए फॉर क्या होता है, जिसका जवाब बच्चों ने फोटो बताया, हैरानी की बात तो यहाँ यह है कि जब अंग्रेजी के पहले अक्षर का मतलब बच्चों को नहीं पता है तो उनके भविष्य का अंजाम क्या होगा, बच्चों ने यह भी बताया कि सर कुछ बताते ही नही हैं, इससे साफ़ जाहिर होता है कि यहाँ तैनात शिक्षक शिक्षा की आड़ मे सरकारी खजाने की सफाई कर रहे हैं, और विभागीय जिम्मेदार हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं, इस सन्दर्भ में जब बीएसए से बात करने के लिय संपर्क साधा गया तो उनसे बात नहीं हो पायी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat