श्रावस्ती के सिरसिया मे तेंदुए ने ली एक और मासूम की जान


अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- 6262-05-6262

प्रदीप यादव- Ia2z

श्रावस्ती– एक बार फिर तेंदुए ने एक मासूम की जान ले ली है। वन विभाग  सोता नजर आ रहा है। लगातार तेंदुए द्वारा एक के बाद एक मासूमों पर किए जा रहे हमले को लेकर क्षेत्र के लोग इन दिनों सहमें हुए है।

अवगत हो कि  हाल ही के दिनों में थाना सिरसिया क्षेत्र के बालू गांव में एक मासूम को तेंदुए ने अपना निवाला बनाया था। इसी प्रकार पूर्व में भी कई घटनाएं घट चुकी हैं। शुक्रवार की देर रात फिर आदमखोर तेंदुए ने थाना क्षेत्र सिरसिया के धर्मन्तापुर में रामतीरथ उर्फ परिक्रमा की 7 वर्षीय बेटी विमला पर तेंदुआ ने हमला कर दिया जिससे उसकी मृत्यु हो गई।

हमला उस वक्त हुआ जब मासूम बच्ची बाथरूम के लिए घर से बाहर निकली तभी तेंदुए ने हमला कर बच्ची को उठा ले गया परिजनों के तमाम खोज बीन के बाद जंगल मे क्षत विक्षत अवस्था मे बच्ची का शव पाया गया। घटना संज्ञान में आते ही जिलाधिकारी दीपक मीणा एवं पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने मौके पर पहुंचकर घटना स्थल का जायजा लिया और परिजनों से मिलकर उनको ढांढस बंधाया तथा हर संभव मदद का आश्वासन दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जिलाधिकारी ने प्रभागीय वनाधिकारी ए0पी0 यादव को निर्देश दिया कि घटनाओं को संज्ञान में लेते हुए ड्रोन की व्यवस्था करें तथा सघन मानिटरिंग की जाए,

जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी भिनगा एवं प्रभागीय वनाधिकारी को निर्देश दिया कि आपदा मद से मिलने वाली सहायता राशि ( चार लाख रू0) तथा वन विभाग से मिलने वाली सहायता राशि(एक लाख रू0) को तत्काल देने हेतु निर्देशित किया। वंहा पर उपस्थित ग्रामीणों से अपील किया है कि ध्यान रखें कि बच्चों को अकेला न छोड़े तथा शाम के समय उनको घर से बाहर न निकलने दें। घटना स्थल पर तहसीलदार भिनगा राजकुमार पाण्डेय, पुलिस क्षेत्राधिकारी भिनगा डा0 जंग बहादुर यादव, थानाध्यक्ष सिरसिया सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे। वहीं अब सवाल यह उठता है कि क्या इसी तरह आदमखोर तेंदुए के निशाने पर एक के बाद एक मासूम की जाती रहेगी,और वन विभाग यूँ ही हाथ पर हाथ धरे सोता रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat