5 नवंबर से आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा सिग्नेचर ब्रिज, मुख्यमंत्री केजरीवाल करेंगे उद्घाटन

  
दिल्ली / लंबे इंतजार के बाद वजीराबाद में यमुना नदी पर बना सिग्नेचर ब्रिज 5 नवंबर की सुबह से आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। 14 साल बाद 6 डेडलाइन की समय सीमा पार करने के बाद ब्रिज का उद्घाटन रविवार शाम को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल करेंगे। 
शुक्रवार को ब्रिज के निरीक्षण के दौरान डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि उद्घाटन अवसर पर कलरफुल लेजर शो का आयोजन होगा, जो दिवाली तक चलेगा। ब्रिज आने वाले समय में टूरिज्म स्पॉट बनेगा, लेकिन अभी इसमें थोड़ा समय लगेगा।



प्रोजेक्ट पर शुरू में 464 करोड़ रुपए बजट निर्धारित किया गया था, लेकिन साल 2007 में कुछ बदलाव के साथ 1131 करोड़ रुपए की मंजूरी दी गई। इसे 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों के समय बनकर तैयार होना था। दो साल वन विभाग से पेड़ों को कटवाने की अनुमति में निकल गए। 2013 में बाढ़ ने ब्रिज का काम रोक दिया। पहले ब्रिज की बढ़ी लागत को लेकर दिल्ली सरकार ने देरी की। ब्रिज की लागत 1518.37 करोड़ रु, आई है। इस बीच 6 बार (2010, 2013, जून 2016, जुलाई 2017, मार्च 2018 व अक्टूबर 2018) डेडलाइन मिस हुई।
                                                             मेन पिलर की ऊंचाई कुतुब मीनार से दोगुनी ज्यादा :
ब्रिज का मुख्य आकर्षण उसका मेन पिलर है, जिसकी ऊंचाई 154 मीटर है। पिलर के ऊपरी भाग में चारों तरफ शीशे लगाए गए हैं। लिफ्ट से लोग यहां पहुंचेंगे तो यहां से दिल्ली का टॉप व्यू देखने को मिलेगा। इसकी ऊंचाई कुतुब मीनार से दोगुनी से भी ज्यादा है। 
यहां पर एक साथ 50 व्यक्तियों के रहने की क्षमता है। अधिकारी ने बताया कि इसके लिए टिकट लगेगा। इसका पूरा काम नहीं हुआ है। इसमें 3 माह और लगेंगे। ब्रिज पर 15 स्टे केबल्स हैं, जो बूमरैंग आकार में हैं, जिन पर ब्रिज का 350 मीटर भाग बगैर किसी पिलर के रोका गया है। ब्रिज की कुल लंबाई 675 मीटर और चौड़ाई 35.2 मीटर है।
यहां के लोगों को मिलेगा फायदा :
यमुना नदी पर बना यह ब्रिज उत्तर पूर्वी दिल्ली को करनाल बाई पास रोड से जोड़ेगा। इस ब्रिज के बन जाने से उत्तर-पूर्वी दिल्ली के यमुना विहार, गोकुलपुरी, भजनपुरा और खजूरी की तरफ से मुखर्जी नगर, तिमारपुर, बुराड़ी और आजादपुर जाने वाले लोगों को बड़ी राहत मिलेगी, जो रोजाना वजीराबाद पुल के जरिए अपना सफर करते हैं और आधा से एक घंटे का समय उन्हें लग जाता है। अब वह यह सफर मिनटों में कर पाएंगे।
निमंत्रण न मिलने से तिवारी नाराज :
सिग्नेचर ब्रिज के चार नवंबर को होने वाले उद्घाटन समारोह में न बुलाए जाने पर नॉर्थ ईस्ट लोकसभा क्षेत्र से सांसद और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने नाराजगी जाहिर की है। तिवारी ने कहा कि सिग्नेचर ब्रिज को लेकर मैंने दिन-रात संघर्ष किया। खजूरी खास पर अनशन किया उसी समारोह में निमंत्रण न देकर कहीं न कहीं क्षेत्र के सांसद होने के नाते मुख्यमंत्री द्वारा प्रोटोकाल का उल्घंन किया गया है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *