अखिलेश और मायावती ने किया लोकसभा सीटों का ऐलान

 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश और बसपा प्रमुख मायावती ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शनिवार को एक साझा संवाददाता सम्मेलन किया। इस दौरान मायावती ने भाजपा प्रमुख पर हमला बोलते हुए कहा कि यह साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस से अमित शाह की नींद उड़ गई हैं।



मायावती ने कांग्रेस को गठबंधन में शामिल न करने की वजह बताते हुए कहा कि आजादी के बाद काफी लंबे समय तक देश के ज्यादा राज्यों में कांग्रेस ने एकक्षत्र राज किया है। जिसमें विशेषकर कमजोर वर्गो के साथ-साथ किसान, मजदूर इत्यादि लोग बहुत परेशान रहे हैं। वहीं, इनके राज में देश काफी कमजोर हुआ जिसकी वजह से बहुत सारी पार्टियों का गठन हुआ। देश में रक्षा सौदे की खरीद-फरोस्त में बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों में ही भष्ट्राचार हुए है। वर्तमान केंद्र की भाजपा सरकार ने अपने प्रतिद्वंदियों को कमजोर करने का प्रयास किया और आज के हालातों को आपातकाल से जोड़ते हुए मायावती ने कहा कि आज अघोषित आपातकाल लगा हुआ है।  इस बार सपा-बसपा का गठबंधन बीजेपी को केंद्र में सरकार बनाने से रोकेगा एवं जनता का उत्पीड़न नहीं करने देगा। बता दें कि इसी के साथ मायावती ने कहा कि कांग्रेस को गठबंधन से वह दूर ही रखेगी। साथ ही बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि गठबंधन को कमजोर करने के लिए बीजेपी ने खनन मामले में अखिलेश यादव का नाम उछाला है। मायावती ने कहा कि हम बीजेपी के इस कदम की आलोचना करते है और सरकार के इस कदम से हम सपा के प्रति हमारा विश्वास और बढ़ गया है।



इसी के साथ गठबंधन के फॉर्मूले का जिक्र करते हुए कहा कि लोकसभा की 80 सीटों में से बसपा 38 में एवं सपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। वहीं, मायावती ने कहा कि किस सीट से कौन सी पार्टी का नेता उतारा जाएगा इस बात का भी निर्णय हो गया है और जल्द ही वह आपके सामने लाया जाएगा। हालांकि बसपा रायबरेली एवं अमेठी की सीटों का जिक्र करते हुए कहा कि हम इन सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेंगे। मायावती ने शिवपाल का जिक्र करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने अखिलेश की छवि धूमिल करने के लिए शिवपाल पर जमकर पैसा बर्बाद किया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *