हर दिल अजीज स्व0 हनुमान शरण शुक्ल के यादों की खुश्बू से सराबोर हुआ पं0 जग नारायण शुक्ला ग्रामोदय महाविद्यालय

 शिक्षा के पायदान को मजबूत बनाने वाले युवा दिलो की धड़कन स्व0 हनुमान शरण शुक्ल की मनायी गयी 10 वीं पुण्यतिथि


अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- 6262-05-6262

एन.के मौर्य / नवल किशोर पाण्डेय

गोण्डा IA2Z – दिल मे रहने वाले दिल से नही निकलते, बदले हजार मौसम रिश्ते नही बदलते, ये कहावत तरबगंज क्षेत्र के ग्राम रानीपुर पहाड़ी के लोगों पर बिल्कुल फिट बैठती है, शिक्षा के पायदान को मजबूती की तरफ ले जाने वाले ब्राह्मण समाज के जिला अध्यक्ष रह चुके हर दिल अजीज स्व0 हनुमान शरण शुक्ला के यादों की खुश्बू घर घर महकती है, और न रहने के बावजूद लोगों के दिलों में धड़कन की तरह समाये हुए हैं,

जिन्हें याद करके दिनांक 14 अप्रैल 2019 को रानीपुर पहाड़ी स्थित पं0 जग नारायण शुक्ला ग्रामोदय महाविद्यालय मे परिजनो के साथ विद्यालय के समस्त स्टाफ व ग्रामीणों ने नम आँखों से 10 वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की, जिस दौरान स्व0 हनुमान शरण शुक्ला के सुपुत्र विश्वजीत शरण शुक्ला ने डब डबाई आँखों से कहा कि कौन कहता है कि पापा हमसे दूर हो गए हैं वो निगाहों से भले ही दूर हैं मगर हमारे दिलों में धड़कन की तरह समाये हुए हैं।

अवगत हो कि शिक्षा के प्रति काफी लगाव रखने वाले गरीबों के चहेते तरबगंज क्षेत्र के रानीपुर पहाड़ी निवासी हर दिल अजीज स्व0 हनुमान शरण शुक्ला कई महाविद्यालय व इण्टर कॉलेज के संस्थापक थे, जिन्होंने क्षेत्र के कई गरीब बच्चों को आगे बढ़ाने के लिए निःशुल्क शिक्षा दिलाने की कवायद पूरी की थी, देखते ही देखते वो गरीबों के चहेते व युवा दिलों की धड़कन बन गए, इसी कारण वो कई बार निर्विरोध ग्राम प्रधान चुने गए, जबकि पत्नी श्रीमती मंजू शुक्ला पूर्व जिला पंचायत सदस्य रहीं, मगर अफसोस बेवफा जिंदगी ने चंद दिनो मे हनुमान शरण शुक्ला को मौत के आगोश में सुला दिया, और देखते ही देखते क्षेत्र मे मातम का माहौल छा गया,वहां की सारी खुशियां बेशुमार गम मे तब्दील हो गयी।

रानीपुर पहाड़ी के हर दिलो मे बसी है स्व0 हनुमान शरण शुक्ला के यादों की खुश्बू

अवगत हो कि दिनांक 14 अप्रैल 2019 को रानीपुर पहाड़ी के पं0 जग नारायण शुक्ला ग्रामोदय महाविद्यालय मे स्व0 हनुमान शरण शुक्ला की 10 वीं जयंती मनायी गयी, जिस दौरान विद्यालय प्रबंधक पूर्व जिला पंचायत सदस्य पत्नी श्री मती मंजू शुक्ला, सुपुत्र युवा समाज सेवी विश्वजीत शरण शुक्ला, ज्ञान प्रकाश पाण्डेय प्रबंधक माँ गायत्री रामसुख पाण्डेय डिग्री कॉलेज मसकनवा,सत्य प्रकाश पाण्डेय, सोनू शुक्ला, अंकुर पाण्डेय,राजीव शुक्ला प्रधान काशीपुर, सुनिल शुक्ला, ओम प्रकाश सिंह, उत्कर्स प्रताप सिंह एवं समस्त विद्यालय स्टाफ व ग्रामीणों ने नम आँखों से श्रद्धांजलि दी, इस दौरान विश्वजीत शरण शुक्ला ने पिता को याद करते हुए कहा कि वो हमारे आँखों से दूर हो सकते हैं मगर दिल मे सदैव जीवांत रहेंगे, वो न रहकर भी सदैव हमारे साथ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat