खबर का असर ! मुर्दे के नाम पर राशन खारिज करने वाले कोटेदार पर तनी डीएसओ की भृकुटि !

 

सप्लाई इंस्पेक्टर को दिया जांच का निर्देश
 
अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- 6262-05-6262

एन.के मौर्य / प्रदीप यादव

(IA2Z गोण्डा)– जिले के वजीरगंज विकासखंड अंतर्गत ग्राम धनेश्वरपुर मे खाद्य प्रणाली के वितरण को लेकर विगत कई दिनों से कोटेदार के अनियमिताओं की गंगा बह रही थी, चर्चा के मुताबिक़ यहाँ जिन्दा उपभोक्ताओं को मानकपूर्ण राशन न देकर मुर्दों के नाम पर राशन खारिज किया जाता है, जबकि गरीब उपभोक्ता अनाज के लिए यहाँ तरस रहे हैं, जिसकी खबर ” इण्डिया ए टू जेड ” न्यूज़ ने शीर्षक ” डीएम साहब!यहाँ तो मुर्दे भी डकार रहे हैं राशन” को प्रमुखता से छापा था, जिसे लेकर भ्रष्ट कोटेदार पर डीएसओ की भृकुटी तन गयी और उन्होंने सप्लाई इंस्पेक्टर को जांच का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें :  डीएम साहब!यहाँ तो मुर्दे भी डकार रहे हैं राशन




     

आइए जानते हैं क्या कहना है धनेश्वरपुर के ग्राम निवासियों का देखने के लिए वीडियो देखें चैनल को लाइक और सब्सक्राइब करना ना भूलें साथ ही बैल आइकन को प्रेस करें


   ग्राम धनेश्वरपुर मे नियम कानून को ताक पर रखकर कुछ जिम्मेदारों के मिलीभगत से कोटेदार गरीबों के हकों पर डांका डाल रहा है, उक्त गाँव मे जब दिनांक 14 फरवरी 2019 को उपभोक्ताओं का हाल जानने “इण्डिया ए टू जेड” न्यूज़ टीम वहां पहुंची तो वहां काले कारनामो के कई दबे राज खुल कर बाहर आ गए, बताते चलें कि बैपता पत्नी सुक्खे दोनों की मौत हो चुकी है मगर उनके नाम पर आज भी राशन खारिज हो रहा है, जबकि जिन्दे उपभोक्ताओं को अनाज के लिए तरसना पड़ रहा है, सर्वे के दौरान सहिदुद्दीन ने बताया कि उसके पास 4 सदस्यों का कार्ड है उसे मात्र 8 किलो राशन दिया जाता है जबकि पुराने कोटेदार द्वारा उसे 16 किलो राशन दिया जाता था। अवगत हक कि इस दौरान एक महिला उपभोक्ता ने यह बताया कि उसके 7 सदस्य हैं जिस पर 20 किलो राशन मिल रहा है, वहीँ श्यामा देवी की बात सुनकर काफी हैरानी हुई उसने बताया कि उसके 8 सदस्य हैं जिस पर उसे मात्र 20 किलो अनाज मिलता है,और तो और उपभोक्ता बरखुद्दार ने बताया कि उसके 8 सदस्यों पर उसे मात्र 5 किलो अनाज दिया जाता है।




यह भी पढ़ें : अजब कोटेदार का गजब खेल ! मुर्दे से बात कराने का दे रहा है चुनौती

 

इन्हें नही हुआ कोटे के अनाज का दर्शन

        उपभोक्ता इन्द्रावती देवी ने बताया कि उसके राशन कार्ड पर 4 सदस्य हैं मगर आज तक उसे राशन नसीब नही हुआ, उसने बताया कि कोटेदार उसे यह कहकर वापस कर देता है कि अंगूठा मैच नही होता, और तो और ऐसे लोगों को भी महीने के अंत में एक बार राशन मिलब चाहिए ये पूछ्ने पर उसने कहा कि हमे वो भी नही मिलता, जबकि रमई मौर्य का कहना है कि उसके पास 8 सदस्यों का कार्ड है मगर उसे आज तक कोटे के अनाज का दर्शन नहीं हुआ, उसने दर्द की हुंकार भरते हुए बताया कि साहब हम गरीब आखिर जाएँ तो कहाँ जाएँ, हमारी कौन सुनेगा ? 

 क्या कहते हैं जिलापूर्ति अधिकारी

उक्त प्रकरण में जिला पूर्ती अधिकारी वीरेंद्र कुमार महान से जब बात हुई तो उन्होंने कहा कि मामला मेरे संज्ञान मे है, शिकायत भी मिली है, सप्लाई इंस्पेक्टर को जांच सौंपी गयी है, दोषी पाये जाने पर कोटेदार के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जायेगी, अब देखना तो यह है कि उक्त प्रकरण मे सप्लाई इंस्पेक्टर की जांच क्या रंग लाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat