भ्रष्ट कोटेदारों पर तनी डीएसओ की निगाहें, वसूला 30 हजार जुर्माना

             दो कोटेदारों पर हुआ एफआईआर दर्ज

 
अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो संपर्क करें :- +91 8076748909

एन.के मौर्य (IA2Z ब्यूरो देवीपाटन मंडल )

गोण्डा– शासन की मंशा के अनुरूप पूर्ति विभाग जिले मे उपभोक्ताओं को नियत दर पर खाद्य सामग्री उपलब्ध न कराकर खाद्यान्न वितरण में अनियमितता बरतने वाले कोटेदारों के खिलाफ कार्रवाई करते 30 हजार रुपए का जुर्माना वसूला गया है। साथ ही दो कोटेदारों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। 



यह जानकारी जिला पूर्ति अधिकारी वीरेंद्र कुमार महान ने एक भेंट वार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि जिले में अंत्योदय अन्न योजना के तहत 65026 परिवार आच्छादित हैं, जिन्हें प्रति परिवार दो रुपये की दर से 20 किग्रा गेंहूँ और तीन रुपये की दर से 15 किग्रा चावल उपलब्ध कराया जाना अनुमन्य है।

    इसी प्रकार जिले में चयनित 2185293 पात्र गृहस्थी व्यक्तियों को प्रति व्यक्ति तीन किग्रा गेंहू और दो किग्रा चावल अंत्योदय की दर पर ही दिया जाना अनुमन्य है। डीएसओ ने बताया कि जिले में खाद्यान्न का वितरण अब ई-पीडीएस मशीन के माध्यम से किया जा रहा है। इसके लिए कार्डधारक अथवा उनके परिजनों को अंगूठा लगाकर राशन प्राप्त करना होता है। अब तक परिवार के मुखिया का आधार नम्बर कार्ड के साथ जोड़ा जा सका था, किन्तु ऐसी दशा में उसे ही राशन लेने जाना पड़ता था। परिवार के अन्य सदस्यों के जाने पर राशन नहीं मिल पाता था।

     इस समस्या को दूर करने के लिए अब सभी सदस्यों का आधार नम्बर दर्ज कराया जा रहा है, जिससे कोई भी सदस्य जाकर राशन प्राप्त कर सके। डीएसओ ने बताया कि उनके कार्य भार सम्हालने के लिए केवल 40 फीसद सदस्यों का आधार नम्बर दर्ज हो पाया था। अभियान चलाकर अल्प समय में ही इसे 62 फीसद तक पहुँचा दिया गया है। उन्होंने अशिक्षित और कम पढ़े लिखे कार्ड धारकों से अपील किया है कि राशन लेने के समय कोटेदार की दुकान पर सतर्कता बरतें, जिससे वह उन्हें गुमराह न कर सके। कई बार ऐसी भी शिकायतें आईं हैं कि अंगूठा स्कैन करने के बाद भी कोटेदार ने बता दिया कि आधार काम नहीं कर रहा है।



उपभोक्ता इन बातों का रखें ख्याल

 उपभोक्ताओं को जागरूक करते हुए जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया कि मशीन पर आपका अंगूठा स्कैन हो जाने के बाद अंगूठा लगाने वाले स्थान पर हरे रंग से सही (टिक) का निशान बन जाता है। यह इस बात का सबूत है कि आपका अंगूठा स्कैन हो गया है और आप राशन लेने के हकदार हैं। उन्होंने कहा कि अपने हक के लिए जागरूक रहें और किसी प्रकार की असुविधा होने की दशा में विभागीय पूर्ति निरीक्षकों अथवा उनसे शिकायत करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
WhatsApp chat